जेल से छूटते ही सपा सरकार के खिलाफ सड़कों पर आंदोलन छेड़ेंगे सुब्रत पाठक

0
1355

कन्नौज  23 दिसंबर (सुरजीत सिंह कुशवाहा)   जेल  से कोर्ट में पेशी पर लाये गये कन्नौज जिलाध्यक्ष ने कहा जनता के बीच जाकर उधेड़ेंगे अखिलेश सरकार के भ्रष्टाचार की पर्तें
एक वर्ग को खुश करने के लिये पिछड़ों से लेकर अगड़ों तक का उत्पीड़न का लगाया आरोप, कहा चुनावों तक लगातार छेड़े रहे है।
कन्नौज। जेल से छूटते ही भ्रष्ट सपा सरकार के खिलाफ जोरदार अभियान छेड़ेंगे। शहर के अलावा गांव-गांव, मजरे-मजरे में जाकर जनता के सामने सपा के भ्रष्टाचार की पोल खोलेंगे। आम जनता को बतायेंगे कि किस तरह आम लोगोे की गाढ़ी कमाई का धन सपा के नेता और ठेकेदार गबन करके अपनी जेबें भर रहे हैं। सड़कोें पर उतरकर रैली और मोर्चे निकालकर जनता को बतायेंगे कि किस तरह सपा सरकार एक वर्ग विशेष को खुश करने के लिये बाकी सभी जातियों को निशाना बना रही है। साजिशें करके दंगे करवा रही है। विरोध करने वालों को जेल भिजवा रही है। गरीबों और पिछड़ी जातियों के लोगों का खुलेआम उत्पीड़न किया जा रहा है। ये सारी बातें बुधवार सुबह जेल से कन्नौज कोर्ट में पेशी पर आये भाजपा के चर्चित नेता सुब्रत पाठक ने कहीं। जेल जाने का मलाल नहीं…
कोर्ट में भारी संख्या में अपने समर्थकों से घिरे सुब्रत ने सपा सरकार को लगभग चैलेंज करते हुये कहा कि उनको जेल जाने का कोई मलाल नहीं, क्योंकि वो सरकार की साजिशों, भ्रष्टाचार के खिलाफ और जनता के लिये लड़ते हुये जेल गये। वो छूटते ही जनता के बीच जाकर सपा की सरकार का सच उजागर करेंगे और जनता खुद ही उनको सजा देगी। वो सरकार के खिलाफ विधान सभा चुनावों तक सतत आंदोलन छेड़े रहेंगे। पार्टी हाईकमान आदेश देगी तो वो कन्नौज जिला से बाहर निकलकर प्रदेश भर में घूम-घूम कर अखिलेश सरकार की काली करतूतों को जनता के सामने उजागर करेंगे।
‘अपने ‘कारिंदों’ से दंगा भड़कवाया’
सुब्रत बोले कि कन्नौज शहर में पहले तो सपा सरकार ने अपने ही कारिंदों को लगाकर दो बार दंगा भड़कवाया, फिर सरकारी तंत्र का भरपूर दुरुपयोग करते हुये उनपर ही माहौल खराब करने का फर्जी आरोप लगाकर जेल भिजवा दिया। उन्होंने कहा कि कन्नौज और प्रदेश की जनता मूर्ख नहीं है। वो अपने वोट के माध्यम से इंसाफ दिला देगी। सर्वविदित है कि किस तरह सपा सरकार सूखा और ओला वृष्टि से पीडि़त किसानों के लिये केंद्र से मिला करोड़ों मुआवजा डकार गई। सब देख रहे हैं कि किस तरह कन्नौज के पुराने जरायम पेशा लोग ठेकेदार बना दिये गये, जो आम लोगों का पैसा हजम कर करोड़पति हो गये।
करेंगे मानहानि का केस और पीआईएल
सुब्रत ने कहा कि वो छूटने और कोर्ट से क्लीनचिट पाने के बाद अपने खिलाफ साजिश में शरीक कन्नौज जिले के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा भी करेंगे। वहीं सरकारी भ्रष्टाचार को लेकर एक पीआईएल भी करेंगे।
अब और भी लोकप्रिय हो गये सुब्रत पाठक!
उधर राजनीतिक पंडितों के बीच ये खूब चर्चा है कि सरकार और कन्नौज प्रशासन ने सुब्रत को जेल भेजकर गल्ती कर दी है। विरोध और समर्थन के बीच सुब्रत पाठक आम लोगों के बीच पहले से ज्यादा पाॅपुलर हो गये। वहीं उनका कद एकदम से प्रदेश स्तर से भी ऊपर उठ गया है। उनकी गिरफ्तारी से पूर्व कन्नौज में हुुये भाजपा के धरने में जुटे प्रदेश भर के छोटे-बड़े नेताओं के हुजूम के अलावा बुधवार को जेल से लाये जाने पर उनके लिये जुटी भीड़ तक को देखकर यही अंदाजा लग गया। खबर है कि अब भाजपा शीर्ष नेतृत्व भी कन्नौज से निकालकर सुब्रत की इस पाॅपुुलेरिटी को चुनाव के दौरान प्रदेश स्तर पर कैश करेगा। वो खुद में हिंदूवाद का संबल सा बनकर उभर रहे हैं और चुनावी ध्रुवीकरण में भी सहायक होंगे।
‘‘आजम खान दंगा स्कीमों के रचयिता’’ !
सुब्रत पाठक ने कहा कि भाजपा सपा और बसपा की तरह जातिवाद की नहीं, विकास की राजनीति करती है। इसी से चुनाव जीतेंगे। वहीं बोले कि प्रदेश में आजम खान जैसे मंत्री धार्मिक और जातीय ध्रुवीकरण करने के लिये जगह-जगह दंगों की साजिशें रचते हैं। उनके संबंध खुलेआम आतंकियों और आईएसआई से हैं। वो तो खुद स्वीकारते भी हैं। उनके तीखे भाषण इसी जहरीली स्ट्रेटजी का रिजल्ट हैं। कन्नौज के दंगे के पीछे भी उनके जैसी ही स्कीम काम में लाई गई है। सरकार बसपा की होती है तो वही काम नसीमुद्दीन सिद्धीकी करते हैl