जल संरक्षण के लिए जागरूक होने की आवष्यकता- डा नीता

0
858

बीडीएम का एक दिवसीय शिविर सम्पन्न
फिरोजाबाद। बीडीएम म्यू कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय शिकोहाबाद में राष्ट्रीय सेवा योजना का एक दिवसीय षिविर योजनाधिकारी प्रथम इकाई डाॅ0 शषिप्रभा तोमर एवं द्वितीय इकाई योेेेजनाधिकारी दर्षना कुमारी के निर्देषन में आयोजित हुआ। इस शिविर में प्राचार्या डाॅ0 नीता सक्सेना की अध्यक्षता में ’जल संरक्षण’ विषय पर परिचर्चा की गई। मुख्यवक्ता संस्कृत विभागाध्यक्षा डाॅ0 शैल वर्मा ने जल की उपयोगिता एवं जल संरक्षण के महत्व पर प्रकाष डाला। उन्होनं बताया कि जल संग्रहण हेतु वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम आज जीवन की अनिवार्य आवष्यकता है। छात्रा कु0 साक्षी जादोंन ने जल शुद्धिकरण के उपायों पर प्रकाष ड़ाला। कु0 षिवांगी सिंह ने जल के महत्व पर अपने विचार व्यक्त किए। प्राचार्या डाॅ0 नीता सक्सेना ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में बताया कि जल संरक्षण के लिए हमें जागरूक होने की अत्यन्त आवष्यकता है। हमें जल संरक्षित करने का संकल्प लेना होगा। राजस्थान जैसे प्रदेष में जल की बहुत कमी है। ऐसी स्थिति सभी स्थानों पर न हो इसके लिए हमें जल संरक्षण की अत्यन्त आवष्यकता है। इसी श्रंखला में छात्राओं ने एक रैली भी निकालीै साथ ही महाविद्यालय प्रांगण में स्थित नर्सरी में लगे पेंड-पौधों की सफाई एवं निराई-गुड़ाई का कार्य किया।
इस षिविर में राष्ट्रीय सेवा योजना की 180 स्वंय सेविकाओं ने प्रतिभाग किया। षिविर के अन्त में योजनाधिकारी दर्षना कुमारी ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया।