सरकार दबा रही है ठीकरिया बांध के किसानों की आवाज

0
271

एफआईआर दर्ज करने पर बोले प्रदेश युकां सचिव तरूण बाहेती

नीमच 07 दिसम्बर ( गोपालदास बैरागी) ठीकरिया बांध पर पानी के हक को लेकर प्रदर्षन कर रहे सौ से अधिक किसानों पर प्रषासन ने विभिन्न धाराओं में आपराधिक मुकदमे दर्ज किए हैं, जो भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीतियों का प्रतीक है। सरकार इस तरह के केस दर्ज कर किसानों के वाजिब हक की आवाज को दबा रही है। उक्त आषय के आरोप युवा कांग्रेस के प्रदेष सचिव तरूण बाहेती ने प्रदेष की भाजपा सरकार व स्थानीय जनप्रतिनिधियों पर लगाते हुए कहा कि सारे घटनाक्रम के जवाबदार भाजपा के जनप्रतिनिधि हैं। पहले ही आषंका थी कि ठीकरिया बांध के गेट खोलने को लेकर विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है, फिर भी जनप्रतिनिधियों ने किसानों में सामंजस्य बिठाने की कोई पहल नहीं की और उल्टे तीन दिन पूर्व किसानों के साथ बैठकर बांध पर धरना दिया और प्रषासन को चेतावनी दी थी कि यदि बांध के गेट खोले तो वे किसी भी हद तक जा सकते हैं। साथ ही स्थानीय विधायक ने किसानों के समक्ष बैठकर जलसंसाधन मंत्री से फोन पर चर्चा की और किसानों को भरोसा दिया कि बांध के गेट नहीं खुलेंगे। किसान इस भरोसे में रह गए और किसानों को इस भरोसे का जवाब पुलिस की लाठी खाकर तथा आपराधिक मुकदमे दर्ज होकर मिला है। किसानों पर 353, 332, 336, 427, 186, 147, 148 भादंवि की धाराओं में प्रकरण दर्ज किए गए हैं।
श्री बाहेती ने कहा कि भाजपा नेता और जनप्रतिनिधि उक्त घटनाक्रम के बाद भी किसानों को बरगलाने और दिखावे का काम कर रहे हैं। प्रदेष में भाजपा की ही सरकार है और भाजपा के ही विधायक हैं, तो ऐसे में यह समझ से परे है कि जनप्रतिनिधि क्या इतने अक्षम और अपनी ही सरकार में इतने लाचार हो गए हैं कि अपनी ही सरकार के मुखिया को ज्ञापन देने के लिए जाना पडा। यह विवाद सिर्फ और सिर्फ भाजपा विधायकों की आपसी जिद व अहंकार का परिणाम है, जिसका खामियाजा ठीकरिया बांध के किसानों को भुगतना पड रहा है।
ठीकरिया बांध के पानी के विवाद को लेकर श्री बाहेती ने कहा कि पानी पर पहले विस्थापित और प्रभावित किसानों का हक है। दूसरे जिलों का तो सवाल ही नहीं उठता। ऐसे में प्रषासन ने भाजपा सरकार के दबाव में बगैर आदेष दिखाए ठीकरिया डेम के गेट जबरन खोले, जिससे जिले के किसानों को भारी आर्थिक क्षति का सामना करना पडेगा।
ठीकरिया बांध मामले में अपने स्वयं के उपर दर्ज आपराधिक प्रकरण के बारे में श्री बाहेती ने कहा कि सरकार की दमनकारी नीतियों के दबाव में कांग्रेस नहीं आएगी और भाजपा सरकार चाहे जितने मुकदमे दर्ज करे, जनहित के मुद्दों को लेकर कांग्रेस द्वारा ऐसे आन्दोलन सतत जारी रहेंगे। ठीकरिया बांध मामले में पुलिस प्रषासन की दमनकारी कार्यप्रणाली और भाजपा सरकार और जनप्रतिनिधियों की अक्षम व लचर नीतियों के विरोध में आने वाले दिनों में इस मुद्दे पर किसानों के साथ चर्चा कर बडे आन्दोलन का स्वरूप तैयार किया जाएगा।