लुधियाना / फिरोजपुर और होशियारपुर के 2 गैंगस्टर गिरफ्तार, जयपाल समेत 3 और नामजद

0
145

लुधियाना/होेशियारपुर. गिल रोड पर 30 किलो सोने की लूट के मामले में आर्गेनाइज्ड क्राइम कंट्रोल यूनिट की टीम ने इस वारदात में शामिल दो अन्य गैंगस्टर फिरोजपुर के मक्कू गांव के हरप्रीत सिंह और होशियारपुर के गढ़दीवाल निवासी प्रदीप सिंह को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से एक पिस्तौल भी बरामद हुआ है। वहीं, गैंगस्टर जयपाल भुल्लर, उसके भाई अमृतपाल सिंह और गुरसेवक सिंह को नामजद किया गया। जैसे कि दैनिक भास्कर ने पहले ही जयपाल को इस लूटकांड का मास्टरमाइंड बताया था, उसपर पुलिस ने भी मोहर लगाई है।

गैंगस्टर गगनदीप ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि उनके साथ हरप्रीत और प्रदीप भी शामिल थे। वारदात से चार दिन पहले वे फिरोजपुर हरप्रीत के घर रूके। वारदात करने के लिए वो लुधियाना आए और वारदात के बाद दोबारा हरप्रीत के पास चले गए। जहां रात रूकने के बाद वो आगे निकले। जबकि प्रदीप पर पहले से ही कई मामले दर्ज हैं। उसके पास से पुलिस को वो पिस्तौल मिला है, जोकि उन्होंने लूट के दौरान इस्तेमाल किया था।

प्रदीप का नाम 2013 में तब चर्चा में आया था, जब कसबा गढदीवाल में निशान सिंह शाना नाम के एक नौजवान का गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद प्रदीप पर फरवरी 2019 में हमला हुआ था। इस पर पुलिस ने उसे दो गनमैन दिए थे, जोकि अब भी उसके पास थे।  उधर, ओक्कू के आईजी कुंवर विजय प्रताप ने कहा कि हरप्रीत और प्रदीप को गिरफ्तार किया है। पूछताछ के बाद लुधियाना पुलिस को सौंपा है।
जयपाल ने भाई को गैंग में किया शामिल 
गगन ने पुलिस को बताया कि लूटकांड में जयपाल ने अपने भाई अमृतपाल अौर मोगा के गुरसेवक काे भी साथ लिया, जोकि जयपाल का जिगरी दोस्त रहा है। वारदात के बाद वो कुछ देर के लिए गुरसेवक के मोगा स्थित ठिकाने पर भी रूके थे। इनके साथ ही इस कांड में दो और लोगों के नाम सामने आएंगे, जिसका खुलासा पुलिस जल्द ही करेगी।

गगन बोला, मैं ता फ्रैशर आं ज्यादा नीं पता

सूत्रों के मुताबिक रविवार को भी ओक्कू की टीम ने गगन से करीब 3 घंटे पूछताछ की। इसमें उससे पुलिस ने बार-बार जयपाल के बारे में पूछा तो उसने कहा कि मैं तां फ्रैशर आं सर मैनू ज्यादा नीं पता। मैंनू तां ऐहे वी नीं पता उस दिन लुट्ट करण साड्डे नाल कौण-कौण सी, मैंनू बस नाम ते एड्रेस पता। report danik bhaskar