गैर क़ानूनी तरीके से बिना लैसंस पिछले 10 वर्षो से कैमिस दुकान की आड़ में चल रहे होस्पीटल को जिला सेहत विभाग कपूरथला ने किया सील,

0
38

कपूरथला 25 नवम्बर ( निर्मल सिंह ) देश और प्रदेश में झोला शाप डॉक्टरों की कोई कमी नहीं जो हर एक प्रदेश में बिना सरकारी प्रमाण पत्र लिए कैमिस की दुकानो की आड़ में होस्पीटल चला कर आम लोगो की जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर मोटे नोट शाप रहे है जिला कपूरथला के गांव बूटा बस स्टैंड पर पिछले 10 वर्षो से एक झोला शाप अपने को डॉक्टर बताकर बिना कोई सरकारी प्रमाण पत्र के कैमिस की दुकान की आड़ में चार बैड वाला होस्पीटल चला कर क्षेत्र के भोले भाले गरीब लोगो की जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर क्षेत्र के लोगो से मोटी रकम कमा कर अपनी दुकान के अन्दर से नीचे बेस मेंट में नया बड़ा होस्पीटल बनाने की तैयारी कर रहा था जिसे जिला सेहत विभाग कपूरथला की टीम ने ख़ास सुचना के आधार पर दबिश दे कर चैक कर सील कर दिया ! कैमिस की दुकान की आड़ में होस्पीटल चलाने वाला झोला शाप डॉक्टर सुलखन सिंह मौके से गायब हो गया !व्ही इलाज करवाने वाला क्षेत्र निवासी ने कहा मुझे नहीं पता की डॉक्टर मानता प्राप्त है या नहीं है लेकिन झोला शाप डॉक्टर के भतीजे ने गैर क़ानूनी तरीके से चल रहे कैमिस की दुकानो व होस्पीटल का खुलासा कर पंजाब सेहत विभाग को सवालों के कटघड़े में खड़ा कर दिया ! अब देखना होगा सेहत विभाग प्रदेश में ऐसी गैर क़ानूनी तरीके से चल रही दवाई बेचने वाली दुकानों तथा हॉस्पिटलों के खिलाफ कोई करवाई करता भी है या नहीं यह तो समय ही बातये गा !
जिला सेहत विभाग कपूरथला की टीम ने ख़ास सुचना के आधार पर दबिश दे बिना कोई सरकारी प्रमाण पत्र के दवाईया बचने वाली दुकान की आड़ में चल रहे चार बैड वाला होस्पीटल को सील तो कर दिया क्योकि झोला शाप डॉक्टर सुलखन सिंह मौके से गायब हो कर अपने भतीजे को बिठा गया जिस के बाद छुटिया होने के चलते होस्पीटल मालक को सोमवार को दवाईया बचने व होस्पीटल चलने के लिए सरकारी प्रमाण के पेश होने के बात कही व्ही थाना कोतवाली पुलिस के अधीन आती बादशाह पुर चौंकी इंचार्ज से मीडिया ने करवाई करने की बात पूछी तो उन्हों ने बताया की सेहत विभाग ने मौके पर गैर क़ानूनी तरीके से बिक रही दवाई तथा चल रहे होस्पीटल को मरीज के साथ काबू किया और मौके से होस्पीटल मालक गायब था और कोई भी सरकारी प्रमाण पत्र नहीं दिखा पाए ! उन्हें सरकारी प्रमाण पत्र दिखने के लिए सोमवार को पेश होने के लिए कहा गया है अगर कोई भी सरकारी प्रमाण पत्र नहीं दिखा पाये उनके के खिलाफ क़ानूनी करवाई सेहत विभाग के आदेशों पर कर दी जाए गी !
गैर क़ानूनी तरीके से दवाई बचने व होस्पीटल चलने वाले सुलखन सिंह के खिलाफ थाना कोतवाली में एन डी पी एक्ट के तहत एफ आर आई 250 दर्ज है उन से 50 नशीली गोलिया ,195 नशीले कैप्सूल ,22 मैक डावल ,40 फस्ट चोवीस मार्का गैर क़ानूनी शारब बरमाद होने का मामला दर्ज है !