स्वच्छता में जिला सिरमौर की 25 ग्राम पंचायते होगी सम्मानित

0
660

 

उपायुक्त 30 सितम्बर को शिमला में होगा राज्य स्तरीय समारोह नाहन – 22 सितम्बर- धर्मपाल ठाकुर – हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिला सिरमौर की 11 निर्मल ग्राम पुरस्कार विजेता ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधियों तथा महर्षि वाल्मिकी सम्पूर्ण स्वच्छता राज्य पुरस्कार विजेता ग्राम पंचायतों को आगामी 30 सितम्बर, 2015 को शिमला के होटल पीटरहाफ में आयोजित होने वाले राज्य स्तरीय पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्यमंत्री, हि0प्र0 द्वारा सम्मानित किया जाएगा। यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर बीसी बडालिया ने आज यहां देते हुए बताया कि इस समारोह में जिला सिरमौर को कुल 27 पुरस्कार दिए जाएगे जिसमें 25 ग्राम पंचायतों को 74 लाख रूपये की राशि पुरस्कार के रूप में प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा। उन्होने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत सम्मानित की जाने वाली जिला सिरमौर की 11 ग्राम पंचायतों में विकास खण्ड नाहन के अर्न्तगत गा्राम पंचायत नेहली धीडा को तीन लाख, विकास खण्ड पच्छाद की पंचायत बनी बखोली, चमेन्जी और धार टिक्करी को क्रमशः 3-3 लाख तथा ग्राम पंचायत डिलमन और नैना-टिक्कर को 6-6 लाख रूपये की राशि प्रदान की जाएगी। इसी प्रकार विकास खण्ड राजगढ की ग्राम पंचायत भूईरा को तीन लाख, पंचायत नेहर पाब को दो लाख और नेरी कोटली को तीन लाख, विकास खण्ड शिलाई के तहत ग्राम पंचायत बेला बशवा को तीन लाख तथा नाया पंजोड को 6 लाख रूपये की राशि प्रदान कर पुरस्कृत किया जाएगा। उन्होने बताया कि वर्ष 2013-14 में महर्षि बाल्मिकी सम्पूर्ण स्वच्छता राज्य पुरस्कार विजेता ग्राम पंचायतों में विकास खण्ड पच्छाद की ग्राम पंचायत लाना भल्टा को मण्डल स्तर पर प्रथम रहने पर पांच लाख, विकास खण्ड पांवटा की ग्राम पंचायत बनौर को जिला स्तर पर प्रथम रहने पर तीन लाख तथा खण्ड स्तर पर प्रथम आने वाली पंचायतों में क्रमशः विकास खण्ड नाहन की सलानी कटोला एक लाख, विकास खण्ड शिलाई की नाया पंजोड को एक लाख, विकास खण्ड राजगढ की सैर जग्गास को एक लाख, विकास खण्ड पच्छाद की जामन की सैर पंचायत को एक लाख, विकास खण्ड पांवटा की कमरउ पंचायत को एक लाख तथा विकास खण्ड संगडाह की ग्राम पंचायत बढोल को एक लाख रूपये देकर सम्मानित किया जाएगा। उन्होने बताया कि इसी प्रकार वर्ष 2014-15 में प्रदेश में प्रथम रहने वाली विकास खण्ड पच्छाद की ग्राम पंचायत लाना भल्टा को दस लाख, जिला स्तर पर प्रथम आने वाली विकास खण्ड संगडाह की गनोग पंचायत को तीन लाख तथा खण्ड स्तर पर प्रथम आने वाली पंचायतों में क्रमशः विकास खण्ड नाहन की बिरला, विकास खण्ड शिलाई की ग्राम पंचायत द्राबिल, विकास खण्ड राजगढ की ग्राम पंचायत भाणत, विकास खण्ड पच्छाद की बनाह घिन्नी, विकास खण्ड पांवटा की ग्राम पंचायत भरोग बनेडी तथा विकास खण्ड संगडाह की ग्राम पंचायत घण्डूरी शामिल है, इन सभी ग्राम पंचायतों को मुख्यमंत्री द्वारा 1-1 लाख देकर सम्मानित किया जाएगा। उपायुक्त ने बताया स्वच्छ भारत मिशन के सफल क्रियान्वयन के फलस्वरूप गत वर्ष प्रदेश की कुल 21 निर्मल ग्राम पुरस्कार विजेता ग्राम पंचायतों में से 11 ग्राम पंचायते जिला सिरमौर की शामिल है तथा अब जिला सिरमौर की ग्राम पंचायत लाना भल्टा ने प्रदेश की लगभग 3240 ग्राम पंचायतों को पीछे छोडते हुए इस वर्ष महर्षि वाल्मिकी सम्पूर्ण स्वच्छता राज्य पुरस्कार के तहत राज्य में अपना परचम लहराया है। उपायुक्त ने जिला की सभी विजेता स्वच्छ ग्राम पंचायतों को शुभकामनाऐ दी है।