सीबीआई ने जेल में योगेष उपरीत से की 2 घंटे पूछताछ।

0
242

ग्वालियर। 29 अगस्त (सीएनआई ब्यूरो) एसोसियेषन आॅफ डेंटल एण्ड मेडीकल काॅलेजेस (एपीडीएससी) के कोर्डिनेटर योगेष उपरीत से प्री-पीजी मामले में सीबीआई एसपी पंकज कमोद इंस्पेक्टर हरीष गोयल ने 2 घंटे पूछताछ की। सीबीआई डीमेट के संबंध में योगेष उपरीत से सवाल किए हैं। पूछताछ वारंट सेल के कक्ष में की है। इस दौरान जेल कर्मचारियों को कमरे के आसपास आने नहीं दिया। जबलपुर के न्यूरोलाॅजिस्ट डाॅ एमएस जौहरी की बेटी ऋचा जौहरी का 25 लाख रूपए लेकर प्री-पीजी में सिलेक्षन कराने के आरोप में योगेष उपरीत पिछले 3 महीने से न्यायिक हिरासत में हैं। व्यापम घोटाले की जांच मिलने के बाद सीबीआई ने पड़ताल का सिलसिला वृद्ध योगेष उपरीत से पूछताछ कर शुरू किया है। उपरीत ने पूर्व में एसआईटी के सामने पूछताछ में तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्रियों को पदस्थ होते ही 10 करोड़ रूपये देने की बात बताई थी ताकि कोई उलझन न हो, इसमें सत्ता के कई रसूखदार मंत्रियों नेताओं के नामों को खुलासा किया था। सीबीआई ने उपरीत से ऋचा के बच निकलने से लेकर व्यापम और डीमेट से जुड़ी बातों के बारे में पूछताछ की। व्यापम के अधिकारियों और कर्मचारी किस तरह रैकेटियर्स से डील करते थे, उसका ब्यौरा पूछा। डाॅ0 सगर पंकज त्रिवेदी और नितिन महिन्द्रा से लिंक के बारे में सवाल पूछे, पूर्व में मंत्रियों के बारे में जो खुलासे किये थे वो रिकाॅर्ड में एसआईटी ने नहीं लिये थे, इसलिये सीबीआई ने उपरीत को जेल की सलाखों में जाकर खंगाला। सूत्रों का कहना है कि उपरीत ने सीबीआई imagesके सामने कई खुलासे किये हैं।