सीबीआई जांच सकती है एडमिशन कमेटी की भूमिका।

0
794

 

ग्वालियर 23 जुलाई (द्वारका हक्वानी) पीएमटी में साॅल्वर बैठाकर मेडीकल काॅलेज में प्रवेष लेने वाले छात्र काउंसलिंग और एडमिशन कमेटी की नजर में क्यों नहीं आ पाए ? सीबीआई इस तथ्य की भी जांच कर सकती है। फर्जीवाड़ा करने वालों का कोई साथ इन कमेटियों में तो नहीं था ? यह जांच का हिस्सा हो सकता है। इससे संबंधित जानकारी सीबीआई ने एसआईटी से ली है। सीबीआई की जांच में कुछ और खुलासे हो सकते हैं।
प्री-मेडीकल टेस्ट मंें साॅल्वर बैठाकर फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह के तार काउंसलिंग कमेटी से जुड़े थे, ऐसे तथ्य एसआईटी की जांच के दौरान आए थे। लेकिन एसआईटी फर्जी छात्र और साॅल्वरों की गिरफ्तारी पर ध्यान दे रही थी इसलिये इन दोनों कमेटियों की भूमिका के बारे में जांच शुरू नहीं कर पाई। लेकिन सीबीआई को मामले ट्रांसफर करने के साथ ही एसआईटी अफसरों ने सीबीआई अफसरों के ध्यान में ह बात ला दी थी। इसलिये सीबीआई अब फर्जी छात्र और साॅल्वर के बीच की कड़ी के रूप में काउंसलिंग और एडमिशन कमेटी की भूमिका की जांच कर सकती है।