सरकारी अधिकारियो द्वारा की जा रही छापेमारियों के चलते ब्यापारी वर्ग का बुरा हाल

0
75

लुधियाना 15 अक्टूबर (सी एन आई) त्योहारों के दिनों में  सरकारी कर्मचारी चाहे वह  इनकम टैक्स ,जीएसटी ,सेल्स टैक्स, पीपीसीबी नगर निगम या अन्य  किसी भी विभाग से सम्बन्धित हो उनको चुनावो में जनता की वोटो से जीत  कर गेय मंत्रियो ने भ्रस्टाचार की रोकथाम के लिए कोई कदम नहीं उठाये जिस के कारण मन्दी  से जूझ रहे कारोबारियों पर सरकारी अधिकारियो द्वारा की जा रही  छापेमारियों  के चलते ब्यापारी वर्ग का बुरा हाल कर दिया है यह विचार गत  दिनों  शिव मंदिर गऊघाट रोड पर  पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल की बैठक को सम्बोधित करते हुए ब्यापार मण्डल के महासचिव सुनील महरा कहे श्री महरा ने ब्यापारी वर्ग को सम्बोधित करते हुए कहा  की पंजाब में फिर एक बार दहशत का माहोल बन रहा है और ऐसे में बाहरी कारोबारियों ने पंजाब में आना लगभग बंद कर दिया है ऐसे में कारोबारियों ने सरकार के विरुद्ध संघर्ष छेड़ने की तैयारी कर ली है  और अगर सरकार  ने व्यापारियों को जेलों में बंद करके उनके परिवार का बेडा गर्क  करने की  की ठान ली है

मेहरा  ने कहा की अगर  तो सरकारी अधिकारी भी कोई दूध के धुले हुए नहीं है सरकार कुम्भकर्णी नींद सो रही  है और अगर अफसरों के करप्शन के चलते सालों से बंद पड़े केसो को खोला जाये जाये तो पुरे  विभाग में खलबली मच जायेगी क्योकि अफसरशाही दूध की धुली हुई नहीं है इसी कारण 2017 से पहले करीब 22 हजार उद्योगपति पंजाब वे पलायन कर गये थे  इस अवसर बैठक का नेतृत्व करते  जिला चेयरमैन पवन लहर की अगुवाई में अनेक ब्यापारियों को सन्मानित भी किया गया , इस मीटिंग के दौरान हर्ष थापर ,रोहित कपूर , अरविंदर सिंह मक्कड़ ,जसवंत सिंह बिरदी,रमेश गोयल ,कस्तूरी लाल ,हरकेश मित्तल ,जयराम मिश्रा ,राकेश वर्मा ,एड्वोकेट मुनीश आहूजा,कुलदीप सिंह,रवि सूद आदि भी उपस्थित थे ,