शुरू हुई 10वीं पंजाब स्टेट जुनियर नैटबाल चेंपियनशिप अवैध : खिलाडिय़ों को ही नहीं पुलिस व प्रशासन को भी धोखे में रखा , हरिओम कौशिक

0
321

बरनाला, 18 नवम्बर (अखिलेश बंसल/विपन गुप्ता) शुक्रवार को बरनाला में शुरू हुई 10वीं (अंडर-19) स्टेट जुनियर नैटबाल (लडक़े/लड़कियां) चेंपियनशिप पूरे तौर पर अवैध है। जिसके आयोजकों ने
खिलाडिय़ों को ही नहीं पुलिस व प्रशासन को भी धोखे में रखा है। यह बात नैटबॉल फैड्रेशन आफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव श्री हरिओम कौशिक ने कही है। उन्होंने कहा कि वे पहले विभिन्न समय पर प्रेसविज्ञप्ति जारी कर लोगों को जानकारी दे चुके हैं।
श्री कौशिक ने बताया कि देश में खेल स्पर्धाएं करवाने वाली फेक किस्म की काफी आर्गेनाइजेशनें सरगर्म हैं जो खिलाडिय़ों खिलाडिय़ों, परिजनों एवं कोचेस को ही नहीं अपने अपने एरिया को पुलिस प्रशासन को भी धोखा दे रहीं हैं। श्री कौशिक ने बताया कि एन.एफ.आई द्वारा पंजाब नैटबॉल एसोसिएशन की मान्यता रद्द की जा चुकी है और पंजाब में नैटबाल प्रोमोशन एसोसिएशन पंजाब को मान्यता दी गई है। जिसके प्रधान गौरीशंकर टंडन और महासचिव के पद पर एडवोकेट करन अवतार कपिल को आसीन किया गया है। उन्होंने कहा कि वे पहले भी प्रेसविज्ञप्ति जारी कर बता चुके हैं कि यदि किसी भी संगठन द्वारा नैटबॉल से संबंधित कोई ईवेन्ट या चेंपियनशिप करवाई जा रही या कोई होने वाली ईवेंन्ट दिखाई दे या सुनने में आए तो उसकी सूचना नैटबॉल प्रोमोशन एसोसिएशन आफ पंजाब (रजि.).के हैल्पलाइन वट्स-एप नंबर 95305-25305 पर तुरन्त दी जाए।
श्री कौशक ने बताया कि बरनाला के एस.डी.कालेज में शुरू हुई (17,18,19 नवम्बर 2017) तीन दिवसीय 10वीं स्टेट जुनियर नैटबाल चेंपियनशिप के बारे में देर रात को पता लगा। उन्होंने हैरानी प्रगट की कि चेंपियनशिप आयोजकों ने (“World Day Remembrance of Accident Victims” ) की हैडलाइन तले पुलिस के अधिकारियों को आमन्त्रित कर उक्त चेंपियनशिप की अध्यक्षता करवायी। उन्होंने कहा है कि वह जल्दि से जलिद संबंधित पुलिस व सरकार की हाईकमान को तुरन्त दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्यवायी करने को पत्र लिखेंगे।