लोकायुक्त से बिजली अधिकारी की सम्पत्ति, पद का दुरूपयोग की जांच की मांग।

0
695

ग्वालियर। २ दिसंबर [सीएनआई ] म.क्षे.विवि. कंपनी के ग्वालियर सीजीएम ऑफिस में पदस्थ जनरल मैनेजर पीके तिवारी द्वारा पद का दुरूपयोग कर पात्र न होते हुये भी वरिष्ठ अधिकारियों की शह पर गलत ढंग से रहते हुये, पॉवर उपभोक्ताओं पर एकतरफा कार्यवाही की थी। जिसकी षिकायत पूर्व में भी वरिष्ठ अधिकारियों को की गई थी, लेकिन सांठगांठ से ध्यान नहीं दिया गया। उक्त अधिकारी ने पद पर रहते हुये, पद का दुरूपयोग कर पॉवर उपभोक्ता डबरा के, को प्रताड़ित किया था और मनमानी बिलिंग कर दी थी, जिससे उपभोक्ता आर्थिक और मानसिक रूप से परेषान हुआ। उपभोक्ता ने लोकायुक्त से उक्त भ्रष्ट अधिकारी की आय और सम्पत्ति तथा पद के दुरूपयोग की जांच और कड़ी कार्यवाही की मांग की है तब तक उक्त अधिकारी के सेवा निवृत्ति के देयक न दिये जाने की भी मांग की है। उक्त अधिकारी के समय में करोड़ों रूपयों की योजनाएं चल रही थीं, जिनमें घटिया सामग्री लगाने ठेकेदारों से सांठगांठ करने और हरिजन कर्मचारियों से दुर्व्यवहार करने के आरोप हैं। उत्तर प्रदेष के इटावा में उक्त अधिकारी की करोड़ों की सम्पत्ति भ्रष्टाचार से बनाई है, जिसकी लोकायुक्त जांच होने पर ही सत्यता सामने आयेगी। उपभोक्ता ने लोकायुक्त से कार्यवाही की मांग की है।lokayukt