लुधियाना में बन रहे फ़लैट में शहीदों के इच्छुक परिवार कर सकेंगे निवास  देश की एकता व अखंडता कायम रखने के लिए शहीद हुए जवानों को किया याद,

0
417
बरनाला 20 अक्टूबर ( अखिलेश बंसल)  देश की आन-बान, शान, एकता व अखंडता कायम रखने की खातिर शहादतें पा चुके पंजाब पुलिस और अर्ध सैनिक बलों के आधिकारियों व जवानों को आज याद किया गया। उन्हें श्रद्धांजली देने को लेकर पुलिस लाइन में स्थापित शहीद यादगार पर विशेष समारोह का आयोजन किया गया। जहां पंजाब पुलिस और प्रशासन के उच्च आधिकारियों और शहीदों के परिवार भी एकत्रित हुए, जिन्होंने यादगार पर श्रद्धा सुमन भेंट किए। इस मौके पर जहां शहीदों के परिवारिक सदस्यों को सम्मानित किया गया वहीं एस.पी. कुलदीप सिंह विर्क के नेतृत्व में पुलिस की टुकड़ी द्वारा सलामी परेड की गई और दो मिनट का मौन धारण भी किया गया।
शहीदों को श्रद्धा के फूल भेंट करते जिला पुलिस मुखी स. हरजीत सिंह आईपीएस ने कहा कि यादगारी दिवस का इतिहास 21 अक्तूबर 1959 से शुरू होता है जब लद्दाख़ के क्षेत्र हाट सप्रिंग में चीन के सैनिकों ने घात लगा कर हमला किया था। जिसमें हमारे 10 जवान शहीद हुए थे। जिसका ज़ोरदार जवाब सब इंस्पेक्टर करम सिंह के नेतृत्व में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल की टुकड़ी ने दिया गया था। उन्होंने कहा कि देश की एकता व अखंडता को कायम
रखने के लिए शहीदी का जाम पीने वाले अर्ध-सुरक्षा बल और पंजाब पुलिस के जवानों से हमें देशभक्ति के जज़बे की प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि शहीदों के परिवार हमारे अहम हिस्सा हैं और शहीदों के परिवारों की हर तरह की समस्या को हल करना हमारा नैतिक कर्तव्य है एवं हम पूरी तरह वचनबद्ध है।
  एसएसपी हरजीत सिंह ने बताया कि जल्दि ही लुधियाना में मुस्कान सोसायटी कालोनी में 24 एल.आई.जी. फ़लैट अलॉट किये जाएंगे, जहां शहीद अधिकारियों/कर्मचारियों के इच्छुक परिवार अपनी रिहायश कर सकेंगे। इस मौके पर एडीशनल जि़ला और सैशन जज स. अजैब सिंह, वायू सेना के ग्रुप कमांडर आशीष शर्मा, एस.पी. जगतप्रीत सिंह, पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के जि़ला प्रधान मक्खन शर्मा, डी.ऐस.पी. राजेश छिब्बर के इलावा पुलिस मुलाजि़म और शहीद जवानों के परिवारों ने भी शहीदों को श्रधांजली दी।