भूकम्प ने दिए भयावह झटके, हर किसी के साँस अधर में लटके

0
637

भूकम्प ने दिए भयावह झटके, हर किसी के साँस अधर में लटके
चंडीगढ़ ; 26 अक्टूबर ; आरके शर्मा /मोनिका शर्मा ;—–कुदरत का करिश्मा कब कहर बन जाये कोई न जाने——! आज धरती पेंडुलम की तरह डोली तो प्रभावितों के साँस अधर पर ही लटके ! ठीक 2-42 बजे बाद दोपहर ट्राईसिटी में दिल दहलाने वाले भूकम्प के झटके लगने से लोगों में दहशत फैली और देखते देखते सरकारी गैर सरकारी दफ्तरों कम्पनीज घरों फ्लैटों से लोग भागते हुए पार्कों सड़कों आदि में जमा हो गए ! चीख चीत्कार से और भी दहशत फैली ! वट्स एप्स सोशल नेटवर्क पर मैसेज फ्लैश होने शुरू हो गए ! उक्त भूकम्प का केंद्र बिंदु आफ्गानिस्तान में हिन्दू कुश पर्वत के समीप मापा गया ! भूकम्प की गहराई कहीं 186 तो कहीं 190 धरती के निचे मापी गई ! मनीमाजरा से एनके धीमान मुताबिक यहाँ तंग गलियों से लोग चीखते हुए भागे और दूसरे लोगों को भू सचेत करते हुए बाहर आये ! खूब शोर शराबा होने से लोग सेफली पार्कों सड़कों में खुली जगह पहुँचने में सफल रहे ! शहर की सबसे बड़ी और व्यस्त मार्किट सेक्टर 22 सी में ज्यों ही भूकम्प के झटके महसूस किये गए लोग दुकानों दफ्तरों से बाहर की और भागे ! देखते मार्किटों की पार्किंगें लोगों की भीड़ से भर गईं ! सेक्टर 43 से गगनदीप सिंह के मुताबिक कोर्ट के जज वकील दूसरा स्टाफ पुलिस हर कोई भवन से बाहर आया और दहशत जदा नजर आया ! आई ते पार्क से करण शर्मा के मुताबिक ज्यों ही भूकम्प के झटके लगने शुरू हुए तो हूटर के बजने से पहले ही लोग खुद सुरक्षित दौड़ पड़े ! बिल्डिंग्स खाली हो गईं और लोग महफूज जगह पहुंचे ! सेक्टर 40 मार्किट से कर्मदीप सिंह के अनुसार भूकम्प के झटके एतने तीव्र थे कि लोग भयभीत हो उठे ! अनेकों युवाओं ने घरों में पड़े बुजुर्गों और बीमारों को खूब हल्लाशेरी के साथ और दूरदर्शिता के साथ घरों से बाहर पार्कों में ले आये ! पंचकुला से हरीश शर्मा ने बताया पंचकुला में युवाओं ने भूकम्प के झटके महसूस होते ही इक दूजे को शोर करके और सोशल नेटवर्किंग के जरिये सुचेत किया और इक दूजे के लिए प्राण सहायक बने ! देखा गया कि आजके भूकम्प ने हिन्दू सिख मुस्लिम सब की एक इंसानियत में बाँधा और हर भेद हर हद से दूर हट कर इक दूजे के लिए बढ़चढ़ के मददगार बने ! लोग इक दूजे को अब आगे रात भर सजग रहने की हिदायतें देते नजर आये ! किंदवती अनुसार भूकम्प की तरंगे फिर वापस आती जरूर हैं और केंद्र बिंदु पर ही जाकर समाप्त होती हैं ! ==================================================