पुलिस की हिंसा के शिकार हुए बाहरी लोग

0
903

कन्नौज  26 अक्टूबर (सुरजीत सिंह कुशवाहा)देर रात शहर के मकरंदनगर इलाके मेंआगजनी व ¨हसा की सूचना पर पहुंची पुलिस ने कागजी कोरम पूरा करने के लिए सड़क से गुजर रहे छह लोगों को हिरासत में लेकर पीट दिया। घायल अवस्था में पुलिस ने सभी लोगों को गिरफ्तार कर हवालात में बंद कर दिया। मद्रास निवासी ¨सहराज और ओदराज व पालराज तीनों भाई बीते कई माह से शहर में इडली डोसा की ठेली लगाकर परिवार का पालन पोषण कर रहे।देर रात वह तीनों सरायमीरा से ठेलीके साथ वापस मकरंदनगर की ओर जा रहे थे। तभी सदर कोतवाली पुलिस ने तीनों को रोकते ही गिरफ्तार कर लिया। इसी प्रकार फर्टिलाइजर कंपनी उन्नाव के कर्मचारी गौरव कुमार व सौरभ कटियार निवासीगण जरौली थाना बर्रा कानपुर और रवि वर्मा चौबेपुर कानपुर रात दस बजे ट्रेन से उतरकर अपने रूम पर जा रहे थे। तभी पुलिस ने तीनों को जीटी रोड से गिरफ्तार कर लिया। उक्त सभीछह लोगों को सामूहिक रूप से हिरासतमें लेकर कोतवाली पुलिस ने मौके परबेरहमी से पिटाई कर दी। इसके बाद सभी लोगों को पुलिस ने हवालात में बंद कर मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया। जहां मजिस्ट्रेट ने मद्रास निवासी ¨सहराज व ओदराज और पालराज को जमानत पर रिहाई दे दी। जबकि कानुपर के तीनों युवकों को पुलिस ने जेल भेज दिया। पुलिस की हिरासत में आए युवकों ने बताया कि उन्हें शहर में चले दंगे के बारे में किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं थी। लाखमिन्नतों के बाद भी पुलिस ने उन्हें नहीं छोड़ा। फरियाद करने पर कई पुलिसकर्मियों ने बेरहमी के साथ उन्हें पीट दिया। इस बाबत कोतवाली प्रभारी भुल्लन यादव ने बताया कि सभी लोगों को धारा 144 के उलंघन में गिरफ्तार कर कार्रवाई की गई है।