पर्यावरण का ११वां स्थापना दिवस मनाया गया

0
309

विख्यात जैविक कृषि विशेषज्ञ दीपक सचदे का सम्मान
शिकोहाबाद। हिन्द लैम्पस परिसर स्थित संस्कृति भवन में प्रकृति संरक्षण को समर्पित संस्था े पर्यावरण मित्र का ११वां स्थापना दिवस समारोह मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जैविक कृषि विशेषज्ञ दीपक सचदे, विशिष्ठ अतिथि शब्दम् सलाहकार सदस्य डा. रजनी यादव व डा. एके आहूजा थे।
इस अवसर पर पर्यावरण मित्र की ओर से अतिथियों का हरित कलश भेंट कर स्वागत किया गया। पर्यावरण मित्र संस्था द्वारा अपने स्थापना दिवस पर जैविक कृषि विशेषज्ञ दीपक सचदे का डा.एके आहूजा व डा. रजनी यादव द्वारा उन्हें शाल उढाकर,प्रशस्त्रि-पत्र,श्रीफल व प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मान किया गया।
इस अवसर पर पर्यावरण मित्र की अध्यक्ष किरण बजाज का संदेश पढ़कर सुनाया गया। अपने संदेश में उन्होंने जैविक खेती पर बल दिया। विख्यात जैविक कृषि विशेषज्ञ दीपक सचदे ने इस अवसर पर अपने व्याख्यान में अमृत कृषि एवं उसके विविध आयाम के विषय में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हमारा जीवन पर्यावरण के लिए है ऐसी सोच अपने अंदर पैदा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अमृत कृषि के द्वारा उन्नति खेती की जा सकती है। इस विधि से खेती, बागवानी करने पर अधिक उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने प्रश्र किया कि जब सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी तीनों ही समान रूप से मिल रहे हैं फिर उत्पादन में समानता क्यों नहीं है। उन्होंने बताया कि अमृत कृषि द्वारा पपीता के एक पेड़ से १८० फल प्राप्त किये गये। ३२ से ५२ किलोग्राम वजन के कद्दू प्राप्त हुए। उन्होंने कहा कि खर-पतवार शत्रु नहीं मित्र हैं। इन्हें पहचानिये और उनसे दोस्ती कीजिए।
उन्होंने कहा कि खेती मूलत: वातावरण व पर्यावरण की समृद्धता एवं संवंर्धन पर आधारित है। फसल पर कीड़ा लगता है इन खर-पतवार पर क्यों नहीं ? उन्होंने कहा कि किसान जिस दिन खेत का उपासक बन जायेगा, खेत मंदिर और उपभोक्ता भक्त, उस दिन किसान को आत्म हत्या के लिए विवश नहीं होना पड़ेगा। संचालन पर्यावरण के प्रबंधक शशिकांत पांडेय ने किया। कार्यक्रम में एके कालेज के प्राचार्य डा.आरके सिंह, जेएस विश्वविद्यालस के कुलाधिपति डा. सुकेश यादव, जिला उद्यान अधिकारी बलजीत सिंह, डा. संजीव आहूजा, डा.एसपी पालीवाल, मंजर उला वासै, अरविंद तिवारी, पीएन सिंह, डा.लतिका सिंह, एसके शर्मा, राजकिशेार सिंह, अमित अग्रवाल अािद उपस्थित थे।