नाहरी पंचायत में उपप्रधान पद के लिए तिकोना मुकाबला

0
791

 

सोलन 25 दिसंबर (धर्मपाल ठाकुर ) – पर्यटन नगरी कसौली के साथ लगती निर्मल ग्राम पंचायत नाहरी में पंचायत चुनावों को लेकर सरगर्मियां काफी तेज हो गई है। यंहा प्रधान पद को छोड़ उपप्रधान पद को लेकर हो रहा मुकाबला रोचक बना हुआ है और हर कोई इस मुकाबले को लेकर उत्साहित है। उपप्रधान पद के लिये इस बार तीन प्रत्याशी चुनावी मैदान में आमने-सामने है। खड़े प्रत्याशियों में वर्तमान प्रधान कुसुम गुप्ता के बेटे हिमांशु गुप्ता मैदान में है जबकि मौजूदा समय में पंचायत उपप्रधान मनमोहन वशिष्ठ भी दूसरी बार उपप्रधान के पद के लिये रणभूमि में है। तीसरा प्रत्याशी हरेन्द्र कुमार पंचायत चुनाव में नया चेहरा है जो पहली बार अपनी किस्मत चुनाव में आजमा रहे है। अनुभव को यदि देखा जाये तो मनमोहन वशिष्ठ सबसे आगे है और इसी कारण हर गाँव से इन्हें लोगों का भरपूर समर्थन मिल रहा है। लोगों का कहना है की मनमोहन की राजनितिक और अधिकारियों के साथ पहचान है जो समय समय पर पंचायत विकास और लोगों के कार्य करवाने के बहुत काम आती है। सामाजिक तौर पर भी मनमोहन वशिष्ठ कई सामाजिक संगठनों के साथ जुड़कर सामाजिक कार्यों को करवाने के लिए हर वक्त आगे रहते है। मनमोहन वशिष्ठ का कहना है की पिछले पांच सालों में हर गाँव में लाखों के विकास कार्य करवाए है और यदि आगे भी मौका मिलता है तो वो इसी तरह से जनसेवा करते रहेंगे। मतदाताओं का कहना है की चुनाव में खड़े हिने वाले प्रत्याशियों को पंचायत की बैठकों और ग्रामसभाओं में जाकर पंचायत कार्यप्रणाली को समझना चाहिए उसके बाद ही अनुभव लेकर पंचायत में खड़े होना चाहिए लेकिन आज हर कोई चुनाव में खड़े हो जाता है। मनमोहन वशिष्ठ का कहना है की बुजुर्गों का सम्मान, विकास की भावना और इमानदारी से लोगों की सेवा करना ही उनका ध्येय रहा है। उन्होंने लोगों से भी आह्वान किया की आज के मतदाता जागरूक हो चुके है और झूठे प्रलोभनों व अफवाह फ़ैलाने वाले प्रत्याशियों से बचना चाहिए ताकि एक स्वच्छ समाज का निर्माण हो सके व साफ़-सुथरी छवि वाले प्रत्याशी ही चुनकर आगे आ सके ।