तीन दिन में नही सुधरे तो किसान संघ सुधारेगा हालात- प्रदेशाध्यक्ष

0
720

अशोकनगर । सोमवार को भारतीय किसान संघ द्वारा कलेक्ट्रेड परिसर में टेंट लगाकर धरना प्रदर्शन किया जिसमें उपस्थित किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष रामभरोसे बासौदिया ने उपस्थित जन समूह को संबोधित करते हुये कहा कि हम राम और कृष्ण के वंशज हैं जो इतनी जल्दी हार मानने वाले नही है बस सरकार से यहीं मांग है कि वह हमें बीज एवं खाद की व्यवस्था करा दे हम फिर हिम्मत के साथ खेती करेगें हम कोई भगोड़ा सैनिक नही हैं।  इसके अलावा इनके द्वारा अधिकारियों को जमकर कोसा गया और कहा कि हम लोग संस्कारवान लोग हैं और अधिकारी हमारे सब्र की परीक्षा न लें। और यदि प्रदेश के अधिकारियों के हालात तीन दिन में  नही सुधरे तो किसान संघ के कार्यकर्ता अधिकारियों को सुधारने का कार्य करेगें। इस बीच किसान संघ द्वारा धरना प्रदर्शन के साथ अपनी मांगों को लेकर कलेक्टर को ज्ञापन सौपा गया ज्ञापन देने के इस कार्यक्रम में किसान संघ द्वारा ज्ञापन को बाहर सभी किसानों के समक्ष सौपने की बात कही जा रही थी लेकिन कलेक्टर प्रतिनिधी मण्डल को अंदर बुलाकर ही ज्ञापन लेना चाह रहे थे इस कारण यह धरना लगभग दो घण्टे अधिक चलता रहा किसान संघ के पदाधिकारियों का कहना था कि जब तक कलेक्टर बाहर आकर ज्ञापन नही लेगें हम धरना जारी रखेगें। और अंत में कलेक्टर ने बाहर आकर ज्ञापन लिया जिसके बाद इन किसानों का धरना प्रदर्शन समाप्त हो गया। इस कार्यक्रम में प्रदेश मंत्री प्रकाश सिंह,प्रातीय अध्यक्ष कैलास सिंह ठाकुर,प्रांतीय मंत्री जगराम सिंह यादव,प्रातीय सदस्य वनवीर सिंह,संभाग मंत्री शिवनंदन सिंह,संीााग सहमंत्री जसवंत सिंह,जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह,जिला मंत्री रामकिशन सिंह,जिला कोषाध्यक्ष बीरेन्द्र सिंह सहित सैकड़ों कार्यकर्ता एवं किसान मौजूद थे।
तीन सूत्रीय मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन
भारतीय किसान संघ द्वारा धरना प्र्रदर्शन के बाद खरीफ की फसल के नुकसान के चलते तीन सूत्रीय मांगों को लेकर कलेक्टर को ज्ञापन सौपा गया किसान संघ का कहना है कि संपूर्ण खरीफ की फसल का सर्वे कराकर किसानों को तुरंत राहत राशि दिलवाई जावे एवं क्रॉप कटिंग कराकर बीमा आदि का लाभ समय पर दिलाया जाये। जिले भर में पिछले तीन वर्षो से अति वर्षा,कम वर्षा एवं ओला बृष्टि से किसानों की हालत दयनीय हो चुकी है जिससे किसानों को खेती करने के लिये सरकार द्वारा सुविधा उपलब्ध कराते हुये बिजली कि बिल माफ किये जाये व बिजली का अस्थाई कनेक् शन दो माह के लिये दिया जाये जिन किसानों का बिजली का बिल बकाया है उनकी डीपी न उठाई जाये एवं कनेक् शन न काटा जाये। साथ ही कम कीमत पर खाद बीज किसान को उपलब्ध कराया जाये। इसी तरह जिले की सभी तहसीलों में पांच अक्टूंबर 15 तक जो फसलें कट चु    की है उन्हें 50 प्रतिशत नुकसान मानकर राहत राशि दिलवाई जावे और जो फसले खेतों में अभी खड़ी है उनमें 100 प्रतिशत नुकसान मानकर राहत राशि का लाभ दिलवाया जावें। साथ ही किसान संघ ने इस सभी मांगों को लेकर प्रशासन को तीन दिन का समय दिया है।
भारी पुलिस बल रहा तैनात
किसान संघ के इस धरना प्रदर्शन को लेकर प्रशासन पहले से ही काफी सजग दिखाई दे रहा था क्योंकि फसलों में हुये नुकसान के चलते इस कार्यक्रम में किसानों की भारी संख्या आने का अनुमान पहले से ही लगाया जा रहा था इसी के चलते कलेक्ट्रेट परिसर में सुबह से ही पुलिस के  जबान तैनात कर दिये गये जो परिसर में होने वाली प्रत्येक हलचल पर पैनी नजर रखें हुये थे।