जेयू: ईसी मेम्बर, बोले जेयू को राजनीति का अड्डा मत बनाओ।

0
268

ग्वालियर। 14 अगस्त (सी.एन.आई. ब्यूरो) जीवाजी युनिवर्सिटी को राजनीति व गुटबाजी का अड्डा मत बनाओ युनिवर्सिटी छात्रों के लिये है यहां छात्र हित की बात होनी चाहिये। छात्रों की समस्याओं का जल्द निराकरण किया जाना चाहिये। यह बात कार्य परिषद की बैठक में पहली बार भाग लेने आये रिटायर्ड जज व ईसी मेम्बर ऋषभ कुमार जैन ने कही। एजेंडा न मिलने पर जैन ने नाराजगी भी जाहिर की। बैठक में रिटायर्ड अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हुकुम सिंह यादव ने कहा कि वह अखबारों में पढ़ते हैं कि छात्र मार्कषीट के लिये परेषान होते हैं, समय पर रिजल्ट घोषित नहीं करने व रिजल्ट विद हैल्ड करने पर छात्र जेयू में हंगामा करते हैं। छात्रों को ऐसी समस्याएं न हों, उसके लिये कर्मचारियों व अधिकारियों को प्रयास करना चाहिये।
जेल भेजने के रास्ते भी जानते हैं – श्री यादव ने कहा कि वह लोकायुक्त में एसपी रह चुके हैं। जेयू में भ्रष्टाचार हुआ तो वह जेल भिजवाने के रास्ते भी जानते हैं, उन्होंने कहा कि जेयू में शैक्षणिक माहौल बनाने का प्रयास सभी को करना चाहिये।
हारने वाले वकीलों की होगी छुट्टी – ईसी मेम्बर ऋषभ कुमार जैन ने कहा कि जेयू के खिलाफ चल रहे केसों की संख्या, स्थिति, पैरवी करने वाले वकीलों के नाम पूरी जानकारी बैठक से पहले दी जाये, जो वकील जेयू के केस हार रहे हैं, उनकी छुट्टी की जाये, अच्छे वकीलों को केस दिये जायें।
खेल बजट को लेकर उठाये सवाल – ईसी मेम्बर राजीव अग्रवाल व अजीत सिंह भदौरिया ने खेल के लिये करोड़ों रूपये के बजट को लेकर सवाल खड़े किये। श्री अग्रवाल ने कहा कि पिछले साल प्रषिक्षण षिविर कितने समय और कहां लगे जानकारी दी जाये। जिम के लिये एक करोड़ का सामान खरीदने के बजट पर कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला ने भी आपत्ति दर्ज कराई।
11 सितम्बर को होने वाले दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन होंगी। समारोह में मंत्री स्मृति ईरानी भी आ सकती हैं, दीक्षांत समारोह में डीलिट की मानद उपाधि सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अरूण मिश्रा व कैलास सत्यार्थी नोवल पुरस्कार विजेता दोनों में से किसी एक को देने की सहमति सदस्यों ने दी है। आयोजन के लिये 10 लाख का बजट रखा गया है।