गोलियों की गूंज से गूंजा कन्नौज पथराव में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा जख्मी

0
588

 

कन्नौज  24 अक्टूबर (सुरजीत सिंह कुशवाहा)गुरुवार शाम कोतवाली के मकरन्दपुर स्थित लाखन तिराहे के पास शोभायात्रा पर पथराव और फायरिंग के शुरु हुई हिंसा शुक्रवार की शाम को थम गई। करीब 24 घंटे से रुक-रुककर उपद्रवियों की तरफ से की जा रही फायरिंग बीएसएफ की तैनाती के बाद से अब पूरी तरह बंद है। शाम तीन बजे के बाद से फायरिंग और पथराव नहीं हुआ। अफसरों के निर्देश पर नगर की सीमा को बैरीकेडिंग लगाकर पूरी तरह से सील कर दिया गया है। बैरीकेडिंग के आसपास फोर्स तैनात है। यहां से निकलने वाला हर व्यक्ति प्रशासन को पूरा जवाब देने के बाद ही निकल पा रहाहै। दोपहर को हुए पथराव में एक पत्थर जिलाधिकारी अनुज कुमार झा को भी लग गया। पत्थर लगने से जिलाधिकारी जख्मी हो गए। हालांकि जख्मी होने के बाद भी वह ड्यूटी पर मुश्तैदी से डटे रहे। सुबह डीएम और कप्तान फायरिंग में मरने वाले सब्जी विक्रेता महेश कुशवाहा के घर पहुंचे। दोनों ही अफसरों ने परिजनों से बातचीत कर उन्हें दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिया।शुक्रवार की सुबह एक दो जगहों पर आगजनी और मारपीट की छिटपुट हिंसा हुई, लेकिन प्रशासन की सख्ती के आगे उपद्रवी पूरी तरह से बेबस आए। हर सूचना पर फोर्स पहुंचती रही। उपद्रवियों पर नकेल कसने के लिए पीएसी के साथ बीएसएफ के जवानों को भी शुक्रवार की दोपहर तैनात कर दिया गया। कुछ चिन्हित प्वाइंट पर ही बीएसएफ के जवानों को लगाया। यह वह प्वाइंट हैं जहां से रात में रुक-रुककर गोलियां चलती रहीं या फिर अतिसंवेदनशील की श्रेणी में आते हैं। अफसरों के मुताबिक शाम तीन बजे से फायरिंग और पथराव नहीं हुआ। हालात अब पूरी तरह से नियंत्रण में हैं। फोर्स लगातार रुट मार्च करने के साथ लोगों को घरों से न निकलने की ताकीद भी देरही है। अफसरों के आदेश पर नगर को बैरीकेडिंग कर चारो तरफ से सील कर दिया गया है। कोई भी व्यक्ति यहां आसानी से नहीं निकल पा रहा है। निकलने वाले व्यक्ति को पूरी जानकारी देने के साथ यह भी बताना पड़ रहा है कि वह घर से बाहर किस काम के लिएनिकला है। सुबह पथराव के दौरान एक पत्थर डीएम अनुज कुमार झा को लग गया, जिससे वह जख्मी हो गए। इससे पहले शुक्रवार की सुबह डीएम और एसपी मृतक सब्जी विक्रेता महेश कुशवाहा के घर पहुंचे। परिजनों से बातचीत कर दोनों अफसरों ने परिवार को भरोसा दिलाया कि न्याय होगा। आरोपी लोग गिरफ्तार किए जाएंगे। पुलिस किसी के दबाव मेंकाम नहीं करेगी।