गूँजती पहाड़ी, दहलते दिल, अभी भी हो रहे विस्फोट।

0
559

ग्वालियर। ८ अक्टूबर [सीएन आई ] डबरा से भितरवार, नरवर मार्ग के निर्माण के लिये एक बिल्डर्स को ठेका मिला है, जिन्होंने अपना प्लांट गांव के बीचों-बीच कैरूआ पहाड़ी पर लगाया है। प्रतिदिन पहाड़ी को विस्फोट कर तोड़ा जा रहा है और क्रेषर मषीन प्लांट से गिट्टिया तैयार की जा रही हैं। खुलेआम विस्फोट से आसपास के गांवों के ग्रामीण दहषत में हैं। पत्रकारों ने ग्रामीणों की षिकायत पर छानबीन की तो मौके पर काफी संख्या में विस्फोटक सामग्री रखी पाई गई, क्रेषर मषीन से खुलेआम उत्खनन किया जाकर गिट्टियां काटी जा रही थीं। अवैध रूप से विस्फोटकों का उपयोग होते दिखा। इधर खुलेआम हो रहे विस्फोटों पर प्रषासन का कोई ध्यान नहीं हैं। प्रषासन द्वारा किन बिन्दुओं पर अनुमति दी गई है, यह भी जांच का विषय है। यहीं नहीं, पास में अस्थाई पेट्रोल पम्प भी संचालित है जो ठेकेदार का ही बताया जाता है, अस्थाई पेट्रोल पम्प पर ज्वलनषील पदार्थ होने से कभी भी दुर्घटना हो सकती है। ग्राम कैरूआ, डढ़ूमर, देवगढ़, मोहनगढ़, खड़ौआ, रमजीपुर, गोलपुरा, चक मियाँपुर, बनियानी आदि एक दर्जन गांव के ग्रामीण दहषत में हैं और आयेदिन हो रहे विस्फोटों से ग्रामीणों की जान जोखिम में बनीं हुई है। दूसरी ओर पहाड़ी के तोड़ने से वातावरण दूषित होने के कारण प्राकृतिक सौन्दर्यता पर भी प्रभाव पड़ रहा है।creshar