गुरु नगरी को आख़िरकार आठवा मेयर करमजीत सिंह र्रिंटू के रूप में मिला,

0
212

अमृतसर 22 जनवरी (गिल धर्मवीर) गुरु नगरी अमृतसर शहर को आख़िरकार आज आठवा मेयर करमजीत सिंह र्रिंटू के रूप में मिला रमन बक्शी सीनियर डिप्टी मेयर और यूनिस कुमार डिप्टी मेयर बने हलाकि इस हाउस से इसी विभाग के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उसके कौंसलर साहिबान नदारद रहे कल ही नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस सर्कार के साथ अपने मतभेद जाहिर किये थे व्ही नवजोत सिंह सिद्धू के चहेते कौंसलर अलग मीटिंग में व्यस्त रहे उन्होंने कहा की कांग्रेस सर्कार ने नवजोत सिंह सिद्धू को इसलिए अलग किया है क्योंकि वह एक ईमानदार इंसान है और वह इस बात को बर्दाश्त नहीं करेंगे | कैप्टेन अमरिंदर सिंह के साथ नवजोत सिंह सिद्धू के मतभेद अब खुल कर सामने आने लगे है शायद इसीलिए निकाय चुनावो के बाद जब अमृतसर के मेयर के नाम पर करमजीत सिंह ररिंटू का एलान हुआ तो ये सुनने के लिए नवजोत सिंह सिद्धू नहीं पहुंचे ये भी माना जा रहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू को पहले से ही करमजीत सिंह रिंटू पता था और वह करमजीत सिंह रिंटू की बजाए अपने चहेते को मेयर के रूप में देखना चाहते थे जो की कैप्टेन सरकार नहीं मानी शायद इसीलिए नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टेन अमरिंदर के बीच मतभेद पैदा हुए निकाय का विभाग नवजोत सिंह सिद्धू के पास है लकिन मेयर बनाने के लिए नवजोत सिंह सिद्धू से पूछा भी नहीं गया और उन्हें निमंत्रण भी नहीं भेजा गया इस बारे में कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा का कहना है की नवजोत सिंह सिद्धू निकाय विभाग के मंत्री है और उन्हें हर बात की जानकारी है और सुबह वह नवजोत सिंह सिद्धू के घर भी गए थे उन्हें मिलने के लिए पर उनसे मिलन नहीं हो पाया उनका कहना है की नवजोत सिंह सिद्धू के साथ बैठ कर इस मामले पर विचार किया जायेगा उन्होंने कहा की नवजोत सिंह सिद्धू की सहमति से ही सारे मेयर बनाये गए है