कूड़ा डंप नहीं बनाने देने को लेकर हंडियाया के लोग अड़े

0
644

बरनाला, 6 नवम्बर (अखिलेश बंसल/विपन गुप्ता) बरनाला की अनाज मंडी में कूड़ा डंप हटाने को लेकर हाईकोर्ट द्वारा नगर कौंसिल को दी गई चेतावनी के बाद हंडियाया में सरकारी जगह पर डंप बनाने जा
रहे बरनाला नगर कौंसिल का हंडियाया के लोगों ने सख्त विरोध किया है। वहां कूड़ा डंप नहीं बनाने देने को लेकर सोमवार को कचेहरी का गेट खुलते ही वहां के बाशिन्दों ने डिप्टी कमिशनर के नाम लिखा ज्ञापन एडीसी को सौंप चेतावनी दी है कि अगर हंडियाया में डंप बनाया गया और एक तिनका भी वहां
लेजाया गया तो नतीजे गंभीर हो जाएंगे।
यह है मामला: बरनाला नगर कौंसिल द्वारा जिला की मुख्य अनाजमंडी जिसके परिसर में कपास व
सब्जी मंडी है और दीवार के साथ साथ अनाज की संभाल करने वाले गौदाम भी हैं। वहां हो रहे आस पास के वातावर्ण को लेकर शहर के एक जनहितैषी समाजसेवी द्वारा माननीय पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया था। जिस पर संज्ञान लेते हुए हाईकोर्ट ने नगर कौंसिल अधिकारियों को सख्त चेतावनी दी थी। अधिकारियों को कूड़ा उठाने के लिए समयबद्ध भी किया था। जिसके बाद हरकत में आए नगर कौंसल अधिकारियों ने अपनी ज़मीनों की खोजबीन शुरू की थी। हंडियाया के आस पास पड़ी दो सरकारी जमीनों (इंदिरा कालोनी (बीड़ कालोनी) और पत्ती धालीवाल हंडियाया) पर जैसे ही कूड़ा लेजाने की तैयारी की तो भिनक मिलते ही पूरा गांव एकत्रित हो गया। जिन्होंने नगर कौंसिल की उक्त कार्यवायी का कड़ा विरोध किया। हंडियाया के बाशिन्दे इकजुट हो सोमवार को जिला के डिप्टी कमिशनर कार्यल्य पहुंचे। जहां डीसी की अनुपस्थिती में उन्होंने एडीसी अरविन्दर पाल सिंह को अपनी-अपनी ओर से ज्ञापन दिए।
इस मौके पर कस्बावासियों में आप के नेता कुलदीप सिंह ताजपुरिया, ग्रामीण मज़दूर यूनियन नेता अजैब सिंह, भाकियू के नेता परमिन्दर सिंह, जोगिन्द्र सिंह, प्यारा सिंह धालीवाल, चमकौर सिंह धालीवाल, धनवीर सिंह धालीवाल, मनजीत सिंह धालीवाल, परमजीत सिंह, बलविन्दर सिंह, मलकीत सिंह, आलम ख़ान, जंगीर सिंह, गुरप्रीत सिंह विसकी, प्रगट सिंह और इलाका निवासी उपस्थित थे।