एक्साइज पुलिस अधिकारी एवं करीब तीन दर्जन गुंडों ने की टॉकीज मालिक की मारपीट।

0
200

ग्वालियर।३०अक्तुबर [सीएनआई]   एक्साइज पुलिस म.प्र. के नीरज त्रिवेदी प्रभारी डबरा और एडीओ दिनेष श्रीवास्तव ने डबरा एक्साइज विभाग के करीब आधा दर्जन जवानों और करीब तीन दर्जन बाहरी व्यक्तियों के साथ अवैध बंदूकों हथियारों से लैस होकर गुरूद्वारा रोड़ डबरा पर स्थित प्रकाष टॉकीज के संचालक प्रमोद षिवहरे के घर बिना वारंट घुसकर अवैध शराब बेचने के आरोप में छापा मारा। एक्साइज पुलिस के साथ आये बाहरी ठेकेदार के लोगों ने जमकर तोड़फोड़ की, बंदूक चमकाई। मालिक पुत्र अर्जुन और करन की मारपीट की। सीसीटीबी कैमरे तोड़ दिये और गाली-गलौज कर जान से मारने की भी धमकी दी। पत्रकारों को अर्जुन षिवहरे, करन षिवहरे ने बताया कि स्कॉर्पियो एमपी 07 सीसी 0993 और एक अन्य गाड़ी तथा अन्य मोटर साइकिलों से तीन दर्जन से अधिक युवक अचानक एक्साइज पुलिस के साथ आये और अवैध शराब बिक्री का आरोप लगाया। टॉकीज संचालक प्रमोद द्वारा मना करने पर जबरन टॉकीज और घर में घुसकर एक्साइज पुलिस प्रायवेट लोगों ने तलाषी के नाम पर तोड़फोड़ की। गेट पर लगे, सीसीटीबी कैमरे तोड़ दिये। एक कैमरा हमलावरों की नजर में नहीं आ पाया, जिससे उनकी पूरी घटना रिकॉर्ड हो गई। पत्रकारों को बताया गया कि हमलावर शराब ठेकेदार के आदमी थे, जो जबरन तीन पेटी शराब टॉकीज परिसर में रखते हुये कैमरे में रिकॉर्ड किये हैं, उक्त शराब प्रकरण में फंसाने के लिये रखी जा रही थी। षिवहरे ने बताया कि एक्साइज विभाग के अधिकारी नीरज त्रिवेदी को भी मुंह में लाठी शराब ठेकेदारों द्वारा मारते हुये लगी है। जो कैमरे में कैद है। शासकीय कर्मचारी नौकरों की तरह व्यवहार ठेकेदार के कर्मचारियों के आगे कर रहे थे। पुलिस अधीक्षक तथा डीजीपी भोपाल, आईजी ग्वालियर एवं एक्साइज कमिष्नर तथा अन्य अधिकारियों को षिवहरे ने पत्र भेजकर नामजद रिपोर्ट की है। उसका कहना हैं कि हमारे घर पर हमला हुआ। करीब 1 घंटे तक 40 लोग तोड़फोड़ करते रहे, पुलिस देर से आई और फरियादी हमारी रिपोर्ट नहीं लिखी गई। बल्कि उल्टे मारपीट के आरोप में करन षिवहरे को गिरफ्तार कर लिया। सरेआम आतंक फैलाने वालों और संबंधित लोगों पर कोई कार्यवाही नहीं होती है। श्री षिवहरे ने बताया कि वे कोर्ट के माध्यम से एफआईआर कराकर न्याय मांगेंगे। आसपास के शांतिपूर्ण मोहल्ले में इतनी सारी भीड़ द्वारा मारपीट हवाई फायर होने पर पुलिस का न पहुंचना भी कई चर्चाओं को जन्म दे रहा है। श्री षिवहरे ने कई प्रमुख लोगों पर गंभीर आरोप लगाये हैं। और डीजीपी, एसपी से कार्यवाही और जानमाल की सुरक्षा की मांग की है।p2ptp3