उत्तरी भारत की तरह भूकम्प ने सोहनी सिटी को भी थरथराया

0
154

उत्तरी भारत की तरह भूकम्प ने सोहनी सिटी को भी थरथराया
चंडीगढ़ ; आरके शर्मा राज / करण शर्मा ;——दिसंबर की सर्दी में आज तपती दोपहर में धरती यकलख्त थरथराई और सब की जान पे बन आई ! भूकम्प से समूचा उत्तरी भारत कांप उठा ! हरियाणा व् पंजाब सहित दिल्ली जे एंड के और उत्तरी भारत के साथ साथ चंडीगढ़ में भी भूकम्प के झटके महसूस किये गए ! ज्यादातर दफ्तरों में एक से डेढ़ बजे और कई दफ्तरों में डेढ़ से दो बजे लंच टाइम होने की मारामारी के चलते लोगों को ये झटके महसूस नहीं हुए ! यूटी प्रिंटिंग एंड स्टेशनरी डिपार्टमेंट की सीनियर असिस्टेंट आशा रानी ने बताया लँह करते वक्त टेबल हिला तो तुरंत सीलिंग फैन पर निगाह गई ! एक बार तो सांस ही थम गई आवाज ही नहीं निकली ! भारत के पड़ोसी मुल्ख पाकिस्तान सहित अफगानिस्तान में भी तेज झटके आने से वहां भी लोगों में खूब दहशत फैली ! प्रशासन चौकस हुए और सेना तक अलर्ट हुईं ! चंडीगढ़ में जैसे ही लोगों ने भूकम्प के झटके महसूस किये इक दूजे को मोबाइल्स के जरिये सूचित करने का क्रम शुरू हो गए ! पर सड़कों पर ट्रैफिक और दफ्तरों में ज्यादातर अप्रभावित ही रहे ! दहशत गर्द लोगों ने भाग कर पार्कों और मैदानों की राह ली और सुख कर सांस ली ! बाद में भूकम्प कन्फर्म होने के मुताबिक तजाकिस्तान में इसकी तीव्रता रिएक्टर पर 7.2 मापी गई ! और यहीं इसका केंद्र बिंदु बताया गया ! और 28 किलोमीटर्स धरती के निचे इसका केंद्र रहा ! चंडीगढ़ प्रशासन के सिविल डिफेन्स के अधिकारी संजीव कोहली के मुताबिक शहर में कोई भी किसी भी तरह के नुकसानदायी हादसे की सुचना नहीं मिलने से सबने राहत की सांस ली !
चंडीगढ़ के पंचायत भवन के मैनेजर राम अचल यादव बताया कि अचानक उनका सर चकराया उनको लगा ऐसे ही चक्कर जल्दी ही भूकम्प की आशंका यकीन में बदली ! निदेशक, जनसंख्या विभाग की अधिकारी नीलम धर और राजिंदर कुमार और आशा सहित एच एम खान ने भी भूकम्प के झटके अपने लंच टाइम में महसूस करते ही अपने अन्य सहकर्मियों को आगाह किया और पार्क की सम्मत निकले ! चंडीगढ़ पुलिस विभाग ने भी भूकम्प से कोई हानि न होने की पुष्टि की है !