आनंदपुर में विवाद पर बरसीं गोलियां 4 लोग घायल, आक्रोशित भीड़: पथराव के बाद नियंत्रण स्थिति

0
919

अशोकनगर /ईसागढ़। आनंदपुर ट्रस्ट वैसे तो शांति एवं धर्मार्थ के नाम से जाना जाता है जिसका मुख्य कार्य लोगों की सेवा करना है पर अब ट्रस्ट का नाता विवादों से भी जुडऩे लगा है। बीते कुछ वर्षों में श्री आनंदपुर ट्रस्ट में सेवा के स्थान पर हुए विवाद अभी थमे भी नही थे कि एक और नया विवाद गहरा गया है। इसी क्रम में गुरुवार की सुबह ट्रस्ट के मुख्य गेट के पास सुरक्षा कर्मियों द्वारा गोलीबारी की गई। जिसमेें 4 लोग घायल हो गये। बताया जा रहा है कि बुधवार को शंकर बंजारा जो कि आनंदपुर ट्रस्ट में ही ट्रक ड्राईवर है शाम को ड्यूटी पूरी करके घर लौट रहा था तभी गेट पर खड़े सुरक्षा कर्मियों ने घर जाने से पूर्व उसकी तलाशी लेने की बात कही।  जिसको लेकर विवाद हो गया और सुरक्षा कर्मियों ने शंकर बंजारा की जमकर पिटाई कर दी। गुरुवार की सुबह शंकर अपने सहयोगियों एवं अन्य लेवर के साथ मिलकर सुरक्षा कर्मियों के पास पहुॅंचा और बीते सांय की बात को लेकर फिर से विवाद होने लगा। विवाद इतना बड़ गया कि मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने अंधाधुंध गोली चला दी जिसमें पंचम सिंह गुर्जर को सीने में गोली लगीं, ओलम सिंह निवासी आकलोन को पैर में एक गोली लगी, हरि सिंह बंजारा के सिर में गोली लगीं और अनिल आदिवासी निवासी दयालपुर को भी गोली लग गई। जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गये। जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस विवाद से आक्रोशित भीड़ ट्रस्ट के खिलाफ  उग्र हो गई और ट्रस्ट के गोली चलाने वाले सुरक्षाकर्मियों के साथ मारपीट कर दी। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए जिले से अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाना पड़ा तब जाकर कहीं मामला शांत किया गया। बताया जाता है कि बाद में लोगों पर ट्रस्ट के महात्माओं एवं सहयोगियों ने पथराव कर दिया जिसमें विधायक गोपाल सिंह चौहान, पत्रकार अभिजीत ताम्रकर, रमेश कुशवाह, पंचम गुर्जर समेत 17 लोग घायल हो गये। पुलिस ने पंचम सिंह गुर्जर निवासी सरजापुर की शिकायत पर धारा 307 294,  323,  34 आईपीसी के तहत हरनाम सिंह तोमर, राजेश रघुवंशी, अशोक भदौरिया, राकेश महात्मा,  सोनू महात्मा, महेंद्र महात्मा पर प्रकरण दर्ज कर लिया है। इसके आलावा घायल महेंद्र यादव पुत्र बलबंत यादव निवासी आकलोन की शिकायत पर धारा 147, 148, 294, 323, 336, 506 के तहत हरनाम सिंह तोमर, राजेश रघुवंशी, अशोक भदौरिया, राकेश महात्मा, सोनू महात्मा, महेंद्र महात्मा, गणेश महात्मा एवं 7 अन्य महात्मा एवं भगतों पर प्रकरण दर्ज कर लिया है। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर मामला जांच में लिया है।
विधायक ने जाना घायलों का हाल:
सुबह अस्पताल में घायलों के देखने के लिए चन्देरी विधायक गोपाल सिंह चौहान पहुॅंचे। उन्होंने आनंदपर ट्रस्ट के प्रति और उसके रवैये के प्रति रोष व्यक्त किया। इसके बाद जब विधायक श्री चौहान आनंदपुर अन्य लोगों से मिलने पहुॅंचे तो उन पर भी महात्माओं ने पथराव कर दिया। जिससे वे भी घायल हो गए और रिपोर्ट के लिए थाने पहुॅंचे। विधायक आनंदपुर ट्रस्ट के इस बर्ताव पर आक्रोशित हुए लोगों की मदद के लिए हर संभव प्रयास के लिए आश्वास्त दिखे। उन्होने घायल व्यक्ति पंचम गुर्जर सरजापुर को 5000 रूपये, ओलम सिंह आकलोन को 2000 हरि सिंह बंजारा को 2000 रूपये की घोषणा की।
पूर्व विधायक देशराज सिंह को सुनाई जनता ने व्यथा:
जब आनंदपुर ट्रस्ट में पूर्व विधायक लोगों से मिलने पहुॅंचे तो सैकड़ों लोगों का जमावड़ा एकत्रित हो गया और लोगों ने श्री आनंदपुर ट्रस्ट की जमकर शिकायत की और पुलिस से लेकर प्रशासन तक की ट्रस्ट से सॉंठगॉठ की शिकायत लोगों ने की और कहा कि इस ट्रस्ट के अंदर सैकड़ों अपराधी छुपे हुए है। जिनका पुलिस तक के पास कोई रिकार्ड नहीं है। जिनकी जॉंच की भी आवश्यकता है महिलाओं से संबंधित अन्य अपराधों से संबंधित षिकायतें भी पूर्व विधायक से रखी और भूमि संबंधी अस्पताल संबंधी और अन्य प्रकरणों की जॉंच कराने की बात और और कार्यवाही की मॉंग की। उन्होने मौके पर ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से कहा कि देखिए इन लोगों की मॉंग पर आप अपराधों की जॉंच कराईये।
मजदूरों ने लगाया प्रताडऩा का आरोप:
बातचीत के दौरान मजदूरों ने बताया कि ट्रस्ट में लगभग 3000 व्यक्ति काम करते हैं। जिन्हें मनमर्जी के अनुसार काम कराया जाता है और मनमर्जी से कम पैसे दिये जाते हैं। न ही कभी बोनस दिया जाता और न ही कोई सुबिधा उलटे जब जिसको चाहें काम से निकाल देते हंै। मजदूरों का कोई यूनियन भी महात्मा गठित नही होने देते और जो यूनियन की बात करता है या हक की लड़ाई लडऩे की बात करते हैं उन्हें काम पर से हटा दिया जाता है। जिससे पूर्व में कई व्यक्ति इससे पीडि़त हो चुके हैं और कोई भी ट्रस्ट के विरोध में अपना हक भी नहीं मॉंग पाता।
इनका कहना है:
विवाद के बाद अब शांति है। सभी को घटना स्थल से हटा दिया गया है। सम्पूर्ण क्षेत्र में धारा 144 लगा दी गई। अब शांति है और स्थिति काबू में है।
एमएल सिसौदिया एसडीएम ईसागढ़
मामले की जाँच कराई जायगी। फिलहाल प्रकरण दर्ज कर लिया गया है और जो भी शिकायतें हैं उन पर कार्यवाही की जायगी।
विनोद कुमार सिंह चौहान
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अशोकनगर
————————–