आंतकियों को जल्द फांसी देने के लिए शिव सेना हिन्द पंजाब भर में सौपेंगी ज्ञापन: ईशान्त शर्मा

0
449

जालंधर 27 अक्टूबर (राजीव धामी):शिव सेना हिन्द की एक विशेष बैठक का आयोजन जालंधर में पंजाब प्रदानं युवा ईशान्त शर्मा जी की अगवाई में कि गयी इस बैठक में विशेष रूप से राष्ट्रीय अध्यक्ष निशांत शर्मा उपस्थित हुए।इस मौके उन के साथ शिव सेना हिन्द के राष्ट्रीय चैयरमेन व राष्ट्रीय उपप्रमुख वेद अमरजीत शर्मा,चैयरमेन राजिंदर धालीवाल,पंजाब अध्यक्ष सौरव अरोड़ा,पंजाब युवा अध्यक्ष इशांत शर्मा समेत पार्टी के तमाम बड़े नेता मौजूद थे।
पंजाब के 6 जिलों में दो दिवसीय दौरे पर निकले निशांत शर्मा व वेद अमरजीत शर्मा ने कहा कि पंजाब में आतंकवाद का सफाया करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के कत्ल केस में फांसी की सजा का सामना कर रहे बलवंत सिंह राजोआना की सजा माफी के लिए फिर से राष्ट्रपति दरबार में गुहार लगाने की तैयारी में जुटे शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान कृपाल सिंह बडूंगर पंजाब का माहौल खराब करने पर तुले है।
उन्होंने कहा कि एक तरफ पंजाब में एक के बाद एक हिन्दू नेता को मौत के घाट उतारा जा रहा है। और शर्मनाक बात यह गई कि अभी तक एक भी कातिल पुलिस की गिरफ्त में नही आ सका है। दूसरी और
पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के कत्ल में दोषी आंतकी
कृपाल सिंह बडूंगर द्वारा बलवंत सिंह राजोआना की फांसी की सजा माफी की बात करना अति निन्दनीय दुष्कृत्य है। आंतकी बलवंत सिंह राजोआना के हक़ के लिए आवाज उठाने वाले कृपाल सिंह बडूंगर पंजाब व देश से गद्दारी कर रहे है। आंतकवादी का समर्थन करना देश की जनता से धोखा है।
उन्होंने कहा कि पंजाब में पिछले 2 वर्षों में कई हिन्दू नेताओ की हत्या की गई। जिस में नामधारी समुदाय की माता चंद कौर, आरएसएस नेता व पूर्व ब्रिगेडियर जगदीश गगनेजा ,शिवसेना नेता दुर्गा गुप्ता, हिंदू तख्त के नेता अमित शर्मा, और इस के अलावा कई हिन्दू संगठनों के नेताओ पर हमले किये गए जिस में कई बुरी तरह से घायल भी हुए। मगर आज तक कृपाल सिंह बडूंगर ने कभी भी हिन्दू नेताओं के कातिलों को पकड़ने के लिए मांग नही उठायी।
मगर कृपाल सिंह बडूंगर को सिर्फ आंतकी बलवंत सिंह राजोआना ही नजर आता है। मगर उस की फांसी सजा माफी के लिए कृपाल सिंह बडूंगर झूठे सपना लेना छोड़ दे। कईं की शिव सेना हिबद इस किसी भी कीमत पर नही होने देगी।
उन्होंने कहा कि शिव सेना हिन्द सरकार को ज्ञापन सौप कर मांग करेगी कि आंतकियो को शीघ्र अति शीघ्र फांसी दी जाए।
ईशान्त शर्मा ने मांग करते हुए कहा कि पंजाब में जितने भी हिन्दू नेता शहीद हुए है उन हिन्दू नेताओं की याद में जालंधर में नेशनल हाईवे पर स्थित पीएपी चौक का नाम शहीदां दा चौक रखा जाए। ताकि पंजाब की जनता और युवा पीढ़ी को सन्देश मिल सके कि हमे भी पंजाब व देश की अखंडता के लिए हर कुर्बानी देने के लिए तैयार रहना है। और देश की जनता इन सभी शहीदों को समय समय पर श्रदांजलि अर्पित कर सके।
निशांत शर्मा ने कहा कि पीएपी चौक का नाम शहीदां दा चौक रखने के लिए सभी जिलों में डीसी को माननीय मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नाम ज्ञापन भी सौपेंगी।
उन्होंने कहा कि शिव सेना हिन्द मोगा में तीन दिसम्बर रविवार को एक बहुत ही विशाल धर्म संसद का आयोजन करने है रही है। जिस में हज़ारो की संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं समेत पार्टी के तमाम बड़े नेता पहुंचेंगे।