आंगनबाड़ी वर्करों का पटियाला में क्रमवार जिला स्तरीय धरना 21/12 को ; पंजौला

0
613

आंगनबाड़ी वर्कर्स यूनियन आज करेगी बादल सरकार दा स्यापा

आंगनबाड़ी वर्करों का पटियाला में क्रमवार जिला स्तरीय धरना 21/12 को ; पंजौला
चंडीगढ़ ; आरके शर्मा /करण शर्मा /मोनिक शर्मा ;— आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन सीटू आज सोमवार को जिला पटियाला में बादल सरकार का स्यापा करेगी ! इस बारे में दूरभाष पर अधिक जानकारी देते हुए यूनियन की महासचिव उषा रानी ने बताया कि चंडीगढ़ सेक्टर 34 स्थित डायरेक्टर ऑफिस के नीचे पीठ तक अकड़ा देने वाली सर्दी के मौसम में भी आंगनबाड़ी वर्कर्स लगातार धरने पर पहली मई 2015 से बैठे अपने हकों की लड़ाई लड़ रहे हैं ! ये लड़ाई अब बहरी मचली सरकार और देश के नौनिहालों के जीवन का आधार बनाने वाले आंगबाड़ी वर्कर्स के बीच जारी है ! 19 दिसमबर को यूनियन ने रोपड़ में बड़े स्तर पर धरना दिया ! ये धरने सूबे में हर एमपी हल्के के मौजूदा सांसद के घर के सामने और स्थानीय उपायुक्त के दफ्तर के आगे लगाये जा रहे हैं ! प्रधान बीबी हरजीत कौर पंजौला ने हमारे संवाद दाता से फोन पर बात करते हुए बताया कि 11 दिसम्बर को फतेहबाद, 13 को होशियारपुर, 14 को जालंधर और 15 को अबोहर सहित 16 को जलालाबाद के उपायुक्त दफ्तर के आगे दिए गए ! 21 दिसम्बर को पटियाला में भी बड़े स्तर पर धरना रोष प्रदर्शन किया जाएगा ! इस मौके धरने पर घर से बेघर होकर कड़ाके की सर्दी में अपनों से मजबूरन दूर ये महिलाएं खुले बरामदे में रात दिन धरने पर कई अभावों का सामना कर रही हैं ! पंजौला ने कहा कि दुःख तो ये है कि हमने बादल सरकार को इसलिए इसी शर्त पर वोटें दे कर जितवाया था कि हमारी जायज मांगें पूरी होंगी पर हमको क्या पता था कि हमें जख्म वो ही देंगे जिनको सियासत और सत्ता की सेज हमने ही सजा के दी ! इस बारे में शिक्षा मंत्री डॉ दलजीत सिंह चीमा से बात हो चुकी कोरे आश्वास भी मिले पर कार्यवाही के नाम पर कुछ न मिला !
धरने पर सुरक्षा ;—शहर में जहाँ लूटपाट, चोरियां और सेंधमारीसहित छेड़छाड़ की वारदातें बढ़ने के ग्राफ में इजाफा पुलिस और पब्लिक को हैरत में डालता है वहीँ ये महिलाएं निहत्थी चंडीगढ़ पुलिस की इक अदद महिला कांस्टेबल के सहारे जान बचाये बैठी हैं ! कब इनके साथ क्या बरप जाये खुदा खैर करे ! उक्त यूनियन से बातचीत करके समुचित स्थाई हल निकालने के लिए एक कमेटी गठित की गई थी ! जिसमे महकमे का मंत्री व् सचिव सहित डायरेक्टर आदि को शामिल किया गया था ! उक्त कमेटी ने ये रिपोर्ट कब संलग्न करनी इस बारे में तो लगता गठन करने वाले भी भूल चुके हैं ! इन धरने पर बैठी बेबस महिला आंगबाड़ी वर्कर्स का कहना है कि मंत्री ज्याणी ने उनसे बड़े बड़े दावे और वादे किये थे पर सियासत के सेंक में सब फेक निकले ! सूबे के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की बठिंडा में संगत दर्शन में यूनियन के पदाधिकारियों ने उचित मांग पत्र दिए और अपनी चिरलम्बित मांगों के बारे में वहां विस्तार से बताया था ! शर्म और हैरत की बात है जिस सूबा के गुरुओं, पीरों,हाकिमों,राजों और फकीरों ने नारी समाज की इज्जत आबरू और उनके हकों के लिए लड़ाइयां लड़ीं, आज उसी सूबे और उन्हीं से संबंधित विभाग के डायरेक्टर,सामाजिक सुरक्षा स्त्री और बाल विकास विभाग के डायरेक्टर व् डिप्टी डायरेक्टर आदि रोजाना धरने के पास वाली सीढियाँ चढ़ के गर्म हीटरों वाले कमरों में जा बैठते हैं पर कोई इनकी ओर बेपरवाही से भी देखना गवारा तक नहीं समझता ! पंजाब सरकार दा नारा कि राज नहीं सेवा की अर्थी उठती यहाँ देखि जा सकती है ! जहाँ हरियाणा पैटर्न लागू किये जाने की मांग करने वाली आंगनबाड़ी वर्कर्स महिलाओं के साथ घोर आनवीयता भरा बर्ताव देखा जा सकता है ! अनेकों धरने पर बैठने वाली महिलाये उम्र दराज हैं तो कई छोटे छोटे बच्चे घर छोड़ कर धरने पर बैठने को मजबूर हैं ! उषा रानी के मुताबिक उनकी मंत्री ज्याणी ही नहीं बल्कि स्वर्णाराम सहित डॉ चीमा के साथ भी बातचीत होने के बावजूद कोई आशा की किरण तक नहीं दिखाई दे रही है !
———————————————————-
डायरेक्टर, सामाजिक सुरक्षा स्त्री व् बाल विकास विभाग के नीचे खुले बरामदे में आंगनबाड़ी महिला वर्कर्स धरने पर बैठी हुईं —— फोटो करण शर्मा ===================================================